MPPSC मुख्य परीक्षा मॉडल प्रश्न पत्र सेट-2

MPPSC मुख्य परीक्षा मॉडल प्रश्न पत्र सेट-2

यहाँ हमने मध्यप्रदेश राज्य सेवा मुख्य परीक्षा मॉडल प्रश्न पत्र (MPPSC Mains Exam Model Question Paper) के माध्यम से परीक्षा उपयोगी सामान्य अध्ययन के महत्वपूर्ण प्रश्नों को तैयार किया है। MPPSC Mains Exam के लिए मॉडल प्रश्न पत्र के माध्यम से आप महत्वपूर्ण प्रश्नों की प्रैक्टिस कर अपने सामान्य ज्ञान का आंकलन कर सकते है। जो आपको मध्यप्रदेश राज्य सेवा मुख्य परीक्षा (MPPSC Mains Exam) एग्जॉम को क्रैक करने में मददगार एवं उपयोगी सिद्ध होंगे। यदि आप इस कंटेंट को इंग्लिश में पढ़ना चाहते है तो मेनू में जाकर लैंग्वेज सेलेक्ट कर चेंज कर सकते है। यदि आपको प्रश्नों में किसी प्रकार की त्रुटि या डाउट है तो आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है। धन्यवाद !

Table of Contents

मध्यप्रदेश राज्य सेवा मुख्य परीक्षा मॉडल प्रश्न पत्र (MPPSC Mains Exam Model Question Paper)

प्रश्न-1. अगस्त प्रस्ताव क्या था ?

उत्तर– ब्रिटिश सरकार ने अगस्त 1940 में एक प्रस्ताव रखा, जिसे अगस्त प्रस्ताव के नाम से जाना जाता है। अगस्त प्रस्ताव के प्रमुख प्रावधान इस प्रकार थे- द्वितीय विश्व युद्ध के बाद स्वतंत्र उपनिवेश का वायदा भारतीयों से किया गया। संविधान भारतीयों द्वारा ही तैयार किया जाना था। युद्ध के दौरान गवर्नर जनरल की कार्यकारी परिषद में भारत के लोकप्रिय प्रतिनिधियों को शामिल करने का फैसला लिया गया था, किन्तु कांग्रेस ने अगस्त प्रस्ताव अस्वीकार कर दिया। गाँधीजी ने व्यक्तिगत सत्याग्रह शुरू कर दिया। इसकी प्रतिक्रिया स्वरूप ब्रिटिश सरकार ने देशभर में आपातकाल लगा दिया। अगस्त प्रस्ताव का विरोध करने के कारण अधिकांश राष्ट्रीय नेताओं को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया।

प्रश्न-2. प्रश्नकाल किसे कहा जाता है ?

उत्तर– भारतीय संसद के सदन की कार्यवाही के पहले घंटे (11 से 12 बजे) को प्रश्नकाल कहा जाता है। इस दौरान सदस्य सरकारी नीतियों और प्रशासन के मुद्दे पर सरकार से प्रश्न पूछते हैं। संबंधित मंत्री उस प्रश्न का उत्तर देते हैं।

प्रश्न-3. गाँधीजी की डांडी यात्रा पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए।

उत्तर– 12 मार्च, 1930 को गाँधीजी ने अहमदाबाद के अपने साबरमती आश्रम से नमक कानून तोड़ने के लिए अपने 78 समर्थकों के साथ डांडी की ओर पैदल यात्रा प्रारंभ की। डांडी अहमदाबाद से 385 कि.मी. दूर भारत के पश्चिमी समुद्र तट पर स्थित था। गाँधीजी ने 6 अप्रैल, 1930 को डांडी के समुद्र तट पर नमक बनाकर ब्रिटिश नमक कानून तोड़ दिया और यहीं से सविनय अवज्ञा आंदोलन की शुरूआत हुई।

प्रश्न-4. भारतीय रिजर्व बैंक पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए।

उत्तर– भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) भारत का केन्द्रीय बैंक है। आरबीआई की स्थापना रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया अधिनियम, 1934 के तहत 1 अप्रैल, 1935 को 5 करोड़ रुपए की अधिकृत पूँजी के साथ हुई थी। 1 जनवरी, 1949 को रिजर्व बैंक का राष्ट्रीयकरण कर दिया गया। रिजर्व बैंक के प्रमुख कार्य हैं- नोटों का निर्गमन, सरकार के बैंकर के रूप में कार्य करना, साख नियंत्रण, विदेशी विनिमय पर नियंत्रण आदि।

प्रश्न-5. भारत के पहले अंतरिक्ष यात्री कौन हैं ? वे किस यान से अंतरिक्ष में गए थे ?

उत्तर– पूर्व सोवियत संघ (USSR) के सर्वोच्च पुरस्कार ऑर्डर ऑफ लेनिन तथा भारत सरकार के अशोक चक्र से सम्मानित स्ववाड्रन लीडर राकेश शर्मा भारत के पहले अंतरिक्ष यात्री हैं। भारत-सोवियत संयुक्त अंतरिक्ष अभियान के तहत वे 3 अप्रैल, 1984 को सोयूज टी-11 यान से अंतरिक्ष में गए थे।

प्रश्न-6. धूमकेतु या पुच्छल तारे क्या होते हैं ?

उत्तर– धूमकेतु साधारणतः पुच्छल तारे के नाम से जाने जाते हैं, क्योंकि इनकी बहुत लम्बी पूँछ होती है। धूमकेतु बर्फ, मिथेन, जल, अमोनिया, कार्बन डाइ-ऑक्साइड गैसों के मिश्रण से बनते हैं, जिनमें आकाशीय धूल भी मिश्रित रहती है। सामान्यतः धूमकेतु पूँछ रहित होता है परन्तु जैसे ही यह सूर्य के पास से गुजरता है तो धूमकेतु का ठोस मध्य भाग जलकर गैसों को उत्पन्न करता है, जो तारे की पूंछ का निर्माण करती हैं। यह जलती हुई गैस सूर्य के प्रकाश से दीप्तिमान होकर लाखों किमी. लम्बी पूँछ की तरह दिखाई देती है। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि सौरमंडल में एक लाख बीस हजार धूमकेतु विद्यमान हैं।

प्रश्न-7. नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए।

उत्तर– भारतीय संविधान के अनुच्छेद 148 के तहत एक नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) की व्यवस्था की गई है, जो संघ एवं राज्य दोनों स्तरों पर देश की समस्त वित्तीय प्रणाली का नियंत्रण करता है। भारतीय संविधान के तहत वर्णित यह अधिकारी देश के सार्वजनिक धन का संरक्षक है। नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा होती है। उसका कार्यकाल 6 वर्षों का या 65 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक होता है। उसके पद से हटाए जाने के प्रावधान उसी तरह के हैं, जैसे सर्वोच्च न्यायालय के किसी न्यायाधीश के संबंध में हैं। नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक यह सुनिश्चित करता है कि सरकार द्वारा किए गए समस्त व्यय उचित स्वीकृति के आधार से युक्त हों तथा ये विवेकपूर्ण, विश्वसनीयता एवं मितव्ययितापूर्ण तरीके से किए जाएँ।

प्रश्न-8. जलियाँवाला बाग हत्याकांड क्या था ?

उत्तर– 13 अप्रैल, 1910 को वैशाखी के दिन सायं 4.30 बजे अमृतसर के जलियाँवाला बाग में सत्यपाल एवं सैफुद्दीन किचलू की गिरफ्तारी के विरोध में शांतिपूर्ण सभा का आयोजन किया गया था। जिस समय सभा चल रही थी, उसी समय जनरल डायर ने बिना कोई चेतावनी दिए अपने साथ आए हथियारबंद 150 सैनिकों को गोली चलाने का आदेश दे दिया। जिससे करीब 1000 लोग मारे गए तथा 1200 से अधिक लोग घायल हो गए। इस जघन्य हत्याकांड से दुःखी होकर महात्मा गाँधी ने ‘कैसर ए हिंद’ तथा रविन्द्रनाथ टैगोर ने ‘नाइटहुड’ की उपाधि वापस कर दी। कांग्रेस के दबाव और सर्वव्यापी असंतोष को देखते हुए इस घटना की जाँच के लिए अक्टूबर 1919 में सरकार ने हंटर कमेटी का गठन किया। इस हत्याकांड पर जारी हंटर कमेटी की रिपोर्ट को कांग्रेस ने पन्ने दर पन्ने निर्लज्ज रिपोर्ट की संज्ञा दी।

प्रश्न-9. दादा भाई नौरोजी पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए।

उत्तर– दादा भाई नौरोजी (1825-1917 ई.) ‘ग्रैंड ओल्ड मैन ऑफ इंडिया’ के नाम से जाने जाते हैं। इन्होंने डब्ल्यू. सी. बनर्जी के साथ मिलकर लंदन – इंडिया सोसाइटी का गठन किया, जिसका कार्य भारत के दुख दर्द का ब्रिटेन एवं विश्व में प्रचार-प्रसार करना था। 1892 में लिबरल पार्टी के टिकट पर ब्रिटिश हाउस ऑफ कामन्स के लिए सांसद चुने जाने वाले ये प्रथम भारतीय थे। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना में इनकी प्रमुख भूमिका थी तथा ये तीन बार (1886, 1893 तथा 1906 में) कांग्रेस के अध्यक्ष रहे। इन्होंने अपने लंबे निबंध ‘पॉवर्टी एंड अनब्रिटिश रूल इन इंडिया’ में स्पष्ट रूप से ब्रिटेन द्वारा भारत के आर्थिक शोषण पर प्रकाश डाला तथा धन के बर्हिगमन के सिद्धांत का प्रतिपादन किया।

प्रश्न-10. यूनेस्को क्या है ?

उत्तर– संयुक्त राष्ट्र शिक्षा, विज्ञान एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनाइटेड नेशन एजुकेशन, साइंस एंड कल्चरल ऑर्गनाइजेशन- UNESCO) संयुक्त राष्ट्र की सांस्कृतिक गतिविधियों की सर्वप्रमुख संस्था है। यूनेस्को की स्थापना नवंबर 1946 में हुई थी। इसका मुख्यालय पेरिस (फ्रांस) में है। इस संगठन का उद्देश्य शिक्षा, विज्ञान एवं संस्कृति के प्रसार तथा राष्ट्रों के बीच बौद्धिक एवं सांस्कृतिक क्षेत्रों में सहयोग के माध्यम से मानव सभ्यता एवं संस्कृति के विकास में योगदान देना है।

यह भी पढ़ें:-

भ्रष्टाचार (Corruption) क्या है ?

भारत की पंचवर्षीय योजनाएं (India’s five year plans)

(आप हमें Facebook, Twitter, Instagram और Pinterest पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top