राष्ट्रीय तानसेन सम्मान से सम्मानित कलाकार । National Tansen Awardee Artist

राष्ट्रीय तानसेन सम्मान से सम्मानित कलाकार (National Tansen Awardee Artist)

राष्ट्रीय तानसेन सम्मान (National Tansen Award) मध्य प्रदेश शासन द्वारा प्रदान किया जाता है। मध्यप्रदेश संस्कृति मंत्रालय भोपाल ने 1980 से तानसेन अलंकरण परंपरा की बड़े स्तर पर शुरुआत की। मध्य प्रदेश शासन द्वारा हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है। इस सम्मान के अन्तर्गत दो लाख रुपए की आयकर मुक्त राशि एवं सम्मान पट्टिका के साथ शाल एवं श्रीफल भी भेंट किया जाता है। परन्तु शुरुआती दौर में कलाकारों को इनामी राशि में एक लाख रुपए दिए जाते थे।

यह लोकप्रिय शास्त्रीय संगीत उत्सव प्रतिवर्ष भारतीय इतिहास के सबसे प्रतिष्ठित गायकों में से एक ‘मियां तानसेन’ की याद में मनाया जाता है। इसका आयोजन उस्ताद अलाउद्दीन खान कला एवं संगीत अकादमी द्वारा किया गया है, जो मध्य प्रदेश संस्कृति विभाग के अंतर्गत कार्य करता है। तानसेन मुगल सम्राट अकबर के 9 रत्नों में शामिल थे।

तानसेन समारोह या तानसेन संगीत समारोह हर साल दिसंबर के महीने में मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के बेहत गांव में मनाया जाता है। यह एक 4 दिन का संगीतमय कल्पात्मक नाटक है। दुनिया भर से कलाकार और संगीत प्रेमी यहाँ पर महान भारतीय संगीत उस्ताद तानसेन को श्रद्धांजलि देने के लिए इकट्ठा होते हैं। यह समारोह मध्य प्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग द्वारा तानसेन के मकबरे के पास आयोजित किया जाता है। इस समारोह में पूरे भारत से कलाकारों को गायन एवं वाद्य प्रसतुति देने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

इस परंपरा में अब तक तानसेन अलंकरण से सबसे ज्यादा ग्वालियर घराने के कलाकरों को गायन और वादन में सम्मानित किया गया है। सबसे पहले वर्ष 1980 में पंडित कृष्णराव शंकर पंडित को तानसेन अलंकरण दिया गया। इसके बाद ग्वालियर घराने के 6 अन्य कलाकरों को भी तानसेन अलंकरण से सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय तानसेन सम्मान प्राप्तकर्ताओं की सूची

सम्मानित कलाकार का नामवर्ष
1. पं. कृष्णराव शंकर पण्डित1980
2. सुश्री हीराबाई बड़ोदेकर1980
3. उस्ताद बिस्मिल्ला खाँ1980
4. पं. रामचतुर मलिक1981
5. पं. नारायण राव व्यास1982
6. पं. दिलीप चन्द्र बेदी1982
7. उस्ताद निसार हुसैन खाँ1982
8. ठाकुर जयदेव सिंह1983
9. श्री बी.आर. देवधर1983
10. सुश्री गंगू बाई हंगल1984
11. उस्ताद खादिम हुसैन खाँ1984
12. पं. गजानन राव जोशी1985
13. सुश्री असगरी बाई1985
14. पं. निवृत्तिबुआ सरनाइक1986
15. उस्ताद मुश्ताक अली1987
16. श्री फिरोज दस्तूर1988
17. सुश्री मोंगूबाई कुर्डीकर1989
18. उस्ताद नसीर अमीनउद्दीन डागर1990
19. पं. भीमसेन जोशी1991
20. पं. रामराव नायर1992
21. पं. शरतचन्द्र आरोलकर1992
22. उस्ताद जिया फरीदुद्दीन डागर1993
23. पं. एस. सी. आर. भट्ट1993
24. उस्ताद असद अली खाँ1994
25. राजा छत्रपति सिंह1995
26. डॉ. ज्ञान प्रकाष घोष1995
27. सुश्री गिरिजा देवी1996
28. पं. हनुमान प्रसाद मिश्र1997
29. श्री बाला साहेब पूछवाले1997
30. पं. सियाराम तिवारी1998
31. पं. सी. आर. व्यास1999
32. उस्ताद अब्दुल हलीम जाफर खाँ2000
33. उस्ताद अमजद अली खाँ2001
34. श्री नियाज़ अहमद खाँ2002
35. पं. दिनकर कायकिनि2003
36. पं. शिवकुमार शर्मा2004
37. सुश्री मालिनी राजुरकर2005
38. सुश्री सुलोचना बृहस्पति2006
39. आचार्य पं. गोस्वामी गोकुलोत्सव2007
40. उस्ताद गुलाम मुस्तफा खाँ2008
41. पण्डित अजय पोहनकर2009
42. सुश्री सविता देवी2010
43. पण्डित राजन मिश्र2011
44. पण्डित साजन मिश्र2012
45. विश्व मोहन भट्ट2013
46. पंडित प्रभाकर कारेकर2014
47. अजोय चक्रवर्ती2015
48. पं. लक्ष्मण कृष्णराव पंडित2015
49. पं. दालचन शर्मा2016
50. पं. उल्हास कशलकर2017
51. मंजू मेहता2018
52. पंडित विद्याधर व्यास2019
53. पंडित सतीश व्यास2020

यह भी पढ़ें:-

दुनिया की दो सबसे महत्वपूर्ण नहरों पर एक नजर

भारत के सभी राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री और राज्यपाल

(आप हमें Facebook, Twitter, Instagram और Pinterest पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top