June 19, 2021

मध्यप्रदेश की प्रमुख नदियाँ

rivers of madhya pradesh

यहाँ पर मध्य प्रदेश की प्रमुख नदियों (Major rivers of Madhya Pradesh) के बारे में प्रमुख जानकारी तथा परीक्षा की दृस्टि से महत्वपूर्ण तथ्य प्रस्तुत किये है। इनमें से कई प्रश्न विभिन्न परीक्षाओं में पूछें जा चुके है। यदि आप मध्यप्रदेश की विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे है तो आपको यह आर्टिकल कॉम्पिटिटिव एग्जॉम को क्रैक करने में मददगार एवं उपयोगी सिद्ध होगा। यदि पोस्ट अच्छी लगे तो दोस्तों में शेयर जरूर करें। धन्यवाद दोस्तों !

मध्यप्रदेश की प्रमुख नदियाँ पर कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

✍ नर्मदा नदी को मध्य प्रदेश की जीवन रेखा कहा जाता है।

✍ नर्मदा मध्य प्रदेश की सबसे लंबी व भारत की पाँचवीं बड़ी नदी है। आरोही क्रम भारत की पांच सबसे बड़ी नदियाँ – गंगा > गोदावरी > कृष्णा > यमुना > नर्मदा।

बेतवा नदी को मध्यप्रदेश की गंगा कहा जाता है।

✍ मध्य प्रदेश की 5 बड़ी नदियों में नर्मदा, चंबल, सोन, ताप्ती, बेतवा है।

✍ भारत में सर्वाधिक नदियां मध्यप्रदेश में प्रवाहित होती है।

✍ चंबल नदी बीहड़ के कारण दस्युओ (डाकुओं) की आश्रय स्थली है।

नर्मदाताप्ती नदियाँ डेल्टा का निर्माण नहीं करती है। ये नदियाँ एश्चुअरी (ज्वारनदमुख) बनाती है।

✍ प्रख्यात भूगोलविद टॉलमी ने नर्मदा नदी को नामादोस कहा है।

✍ मध्य प्रदेश को नदियों का मायका कहा जाता है।

✍ शिप्रा नदी के किनारे उज्जैन में प्रति 12 वर्ष के पश्चात महाकुंभ का आयोजन किया जाता है।

✍ नर्मदा नदी मध्य प्रदेश, गुजरात तथा महाराष्ट्र से होकर गुजरती है।

✍ नर्मदा नदी का उद्गम मध्य प्रदेश राज्य में है।

✍ चंबल नदी का प्रवाह मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश व राजस्थान राज्यों से होता है।

✍ मध्य प्रदेश का सबसे लंबा बांध तवा नदी पर 1322 मीटर है जो होशंगाबाद जिले में है।

वर्धा तथा बेनगंगा का संगम स्थल ‘प्राणहिता‘ के नाम से जाना जाता है।

✍ मध्य प्रदेश प्रवाहित होने वाली नदियां प्रायद्वीपीय नदियां हैं।

✍ मध्य प्रदेश के अमरकंटक से 3 किलोमीटर के अंतर से 3 नदियां नर्मदा, सोन, एवं जोहिला का उद्द्गम स्थल है।

✍ मध्य प्रदेश का सबसे ऊंचा जलप्रपात चचाई जलप्रपात है, जो बीहड़ नदी पर स्थित है।

✍ महाभारत में कहा गया है कि ताप्ती सूर्य भगवान की पुत्री है।

✍ नर्मदा मध्यप्रदेश की सबसे प्रमुख नदी है।

✍ राज्य की प्रथम विद्युत परियोजना गांधी सागर बांध चंबल नदी पर मंदसौर में बनाई गई है।

शिप्रा नदी को मालवा की गंगा कहते हैं।

✍ नर्मदा क्षिप्रा का संगम उज्जैनी (इंदौर) में हुआ है।

✍ उत्तर और दक्षिण भारत की पारंपरिक सीमा नर्मदा नदी है।

✍ रामघाट शिप्रा नदी के तट पर है।

नदियों का प्रवाह की दिशा नीचे प्रदर्शित है

nadiyo ka pravah

मध्यप्रदेश की प्रमुख नदियों का विवरण इस प्रकार है

प्रमुख नदियाँउद्गम स्थलअवसान स्थलकुल लम्बाई
नर्मदाअमरकंटकखम्भात की खाड़ी (अरब सागर) (1077 किमी. MP में)1312 किमी.
चम्बलजानापाव पहाड़ी
डॉ. अम्बेडकर नगर (महू) के पास इंदौर
इटावा (UP) के पास यमुना नदी में965 किमी.
सोनअमरकंटकगंगा में780 किमी.
ताप्तीबैतूल जिले में मुलताई सेखम्भात की खाड़ी (अरब सागर)724 किमी.
बेतवाकुमरा गाँव (रायसेन)हमीरपुर में यमुना नदी में480 किमी.
कालीसिंधबागली गाँव (देवास)चम्बल में150 किमी.
क्षिप्राकाकरीबर्डी (इंदौर)चम्बल में195 किमी.
पार्वती नदीसीहोरचम्बल में37 किमी.
कूनो नदीशिवपुरी के पठारचम्बल में180 किमी.
बेनगंगापरसवाड़ा पठार (सिवनी)गोदावरी में
केनविंध्यांचल पर्वतयमुना नदी
कुँआरी नदीशिवपुरी पठारसिन्ध नदी
वर्धामुलताई के उत्तर-पूर्व, बैतूलबेनगंगा (महाराष्ट्र में)
गारसिवनी के लखनादौन क्षेत्र सेनर्मदा में
कुंदासतपुड़ा पर्वतनर्मदा में
माहीविद्यांचल पर्वत583 किमी.
पार्वतीसीहोर जिले सेचंबल में
सिंधसिरोंज (विदिशा)यमुना में
साटकखरगोन जिले सेनर्मदा में
टोंसकैमूर पहाड़ी (सतना)
धसान रायसेनबेतवा मंडी
स्त्रोत:- मध्यप्रदेश जनरल नॉलेज बुक एवं इंटरनेट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!