भारतीय राष्ट्रीय प्रतीक (Indian National Emblem)

Indian National Emblem

यहाँ पर भारतीय राष्ट्रीय प्रतीक (Indian National Emblem) यानि कि भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों – राष्ट्रीय गान, राष्ट्रीय गीत, पशु, पक्षी, आदि का विस्तृत विवरण दिया गया है। यदि आप कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी कर रहे है तो आपको भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों (Indian National Emblems) की विस्तृत जानकारी होना चाहिए।

भारतीय राष्ट्रीय प्रतीक (Indian National Emblem):-

राष्ट्रीय गान (National anthem)-

भारत का राष्ट्रीय गान श्री रविंद्र नाथ टैगोर द्वारा रचित ‘जन-गण-मन’ है। राष्ट्रीय गान को गाने का निर्धारित समय लगभग 52 सेकंड है। इसे राष्ट्रगान के रूप में स्वीकृति संविधान सभा ने 24 जनवरी, 1950 को प्रदान की थी। यह गीत सर्वप्रथम भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में २7 दिसम्बर, 1911 को गाया गया था।

मूल रूप में राष्ट्रगान 5 पदों में है, लेकिन राष्ट्रगान के रूप में इसका सिर्फ पहला पद ही मान्य है। राष्ट्रीय गान ‘जन-गण-मन’ 1912 में ‘तत्वबोधिन’ नामक पत्रिका में भारत भाग्य विधाता शीर्षक से सर्वप्रथम प्रकाशित हुआ था। 1919 में रविंद्र नाथ टैगोर ने इस गीत का अनुवाद ‘द मॉर्निंग सॉंग ऑफ़ इंडिया’ शीर्षक से किया।

national anthem of india

राष्ट्रीय गीत (National song)-

भारत का राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम’ श्री बंकिमचंद्र चटर्जी द्वारा लिखित है। ‘वन्देमातरम’ गीत राष्ट्रीय गीत के रूप में 24 जनवरी 1950 को अपनाया गया। यह गीत बंकिमचंद्र चटर्जी के प्रसिद्ध उपन्यास ‘आनंद मठ’ से लिया गया है। यह गीत सर्वप्रथम 1896 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में गया गया था।

राष्ट्रीय गीत का अंग्रेजी अनुवाद श्री अरविंदो घोष ने किया था। राष्ट्रीय गीत को गाने का समय 1 मिनिट और 5 सेकंड है। इस गीत की रचना सन 1874 में हुई थी। इस राष्ट्र गीत को भी राष्ट्रीय गान के समान गौरव प्रदान किया गया है।

national song of india

राष्ट्रीय चिन्ह (National emblem)-

29 जनवरी 1950 को भारत ने सारनाथ स्थित अशोक स्तम्भ के शीर्ष की अनुकृति को राष्ट्रीय चिन्ह के रूप में स्वीकार किया। भारत का राष्ट्रीय चिन्ह मौर्य सम्राट अशोक द्वारा सारनाथ में स्थापित ‘सिंह स्तम्भ’ से लिया गया है। अशोक स्तम्भ के शीर्ष की जिस साकार किया गया , उसमे तीन सिंह दिखाई पड़ते है।

मूल आकृति में स्तम्भ के चार सिंह एक – दूसरे की ओर पीठ किये हुए खड़े है। जिसमे चार में से केवल तीन सिंह ही दिखाई देते है। इसकी नीचे की पट्टी के मध्य में उभरी नक्काशी में चक्र है। जिसके दायीं ओर एक -एक साड़ और बायीं ओर एक घोड़ा है तथा एक सिंह की उभरी हुई मूर्ती है, जिसके बीच -बीच में चक्र बने है। आधार के पद्म को खाली छोड़ दिया गया है। यह सम्पूर्ण सिंह एक ही पत्थर को काटकर बनाया गया था , इस सिंह के ऊपर ‘धर्मचक्र’ रखा था। फलक के नीचे देवनागरी लिपि में मुण्डकोपनिषद से उद्दत सूत्र ‘सत्यमेव जयते’ लिखा गया है। इसका अर्थ सत्य की विजय होता है।

national emblem of india

राष्ट्रीय ध्वज (National flag)-

भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है। संविधान सभा ने राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा का प्रारूप 22 जुलाई 1947 को अपनाया। राष्ट्रीय ध्वज में तीन समान अनुपात वाली आड़ी-चौड़ी पट्टिया है। जो केसरिया , सफ़ेद व हरे रंग की है। ध्वज के सबसे ऊपर गहरा केसरिया , बीच में सफ़ेद और सबसे नीचे गहरा हरा रंग होता है।

इनमें केसरिया रंग शक्ति का प्रतीक , सफ़ेद (श्वेत ) रंग शांति का प्रतीक एवं हरा रंग जीवन समृद्धि का प्रतीक है। ध्वज के बीच सफ़ेद रंग वाली पट्टी के बीच में गहरे नीले रंग की २४ तीलियों वाला अशोक चक्र है, जो धर्म और ईमानदारी के मार्ग पर चलकर देश को उन्नति की ओर ले जाने की हमें प्रेरणा देता है। राष्ट्रीय ध्वज की लम्बाई और चौड़ाई का अनुपात 3:2 है। ध्वज का प्रयोग और प्रदर्शन एक संहिता (कानून) द्वारा नियमित होता है।

राष्ट्रीय पक्षी (National bird)-

भारत का राष्ट्रीय पक्षी ‘मोर’ (पावो क्रिस्टेटस) है। 1972 से इसे पूर्ण संरक्षण प्राप्त है।

राष्ट्रीय पुष्प (National flower)-

भारत का राष्ट्रीय पुष्प कमल (नेलम्बो नेवसिफेरा) है। यह हल्का गुलाबी रंग का होता है और प्राचीन काल से ही इसे भारतीय संस्कृति का शुभ संकेत (प्रतीक) माना जाता है।

national flower of india

राष्ट्रीय पशु (National Animal)-

भारत का राष्ट्रीय पशु ‘बाघ’ (पेन्थरा टाइग्रिस-लिन्यायस) है। यह पीले रंग और कत्थई धारीदार लोम चर्म वाला एक पशु है। बाघ अपनी शालीनता, स्फूर्ति, दृढ़ता और अपार शक्ति के लिए हमेशा प्रंशंसा और सम्मान का किरदार रहा है। भारत में पायी जाने वाली बाघ की प्रजाति को रॉयल बंगाल टाइगर के नाम से जाना जाता है।

यह भी पढ़ें:-

भारत के प्रमुख किलों का विश्लेषण

भारत के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top